गुणवत्‍ता का पक्ष:


 

उपभोक्‍ता का संतोष एमसीएल का प्रमुख उद्देश्‍य एवं आदर्श वाक्‍य है। कोयला प्राकृतिक उत्‍पाद है तथा प्रकृति में यह विजातीय(विषमांग) है। यह पृथ्‍वी की पपड़ी(crust) को खोद कर निकाला जाता है। यह विनिर्मित उत्‍पाद नहीं है। अत: गुणवत्‍ता नियंत्रण की प्रक्रिया एवं तरीका अन्‍य विनिर्माण उद्योग से अलग है। गुणवत्‍ता में सुधार के लिये निम्‍नलिखित कदम उठाये जाते हैं :
1. इन-सिटू कोयला गुणवत्‍ता में सही आकलन एवं रेशनलाइजेशन ग्रेडिंग
2. सीम,भण्‍डार,साईडिंग और टिपर सैंपल में युक्तियुक्‍त नमूना प्रक्रिया अपनाकर प्रत्‍येक वर्ष वार्षिक कोयला श्रेणी की घोषणा उपभोक्‍ताओं के संतोष के लिये किया जाता है।

सही आकार:

प्रेषण से पहले कोयले को खदान/भंडार से फीडर ब्रेकर/सीएचपी पर (-) 100 एमएम के आकार में तोड़ने(crush) के लिये भेजा जाता है इसके बाद इस (-) 100 एमएम के कोयले को सभी रेलवे साईडिंग पर भेजा जाता है। इसके अलावा एमसीएल के सभी परियोजनाओं में पर्याप्‍त संख्‍या में सरफेस माइनर है, जिससे सही आकार के कोयले का उत्‍पादन होता है तथा इसे सीधे साईडिंग पर उपभोक्‍ताओं को अंतिम प्रेषण के लिये भेज दिया जाता है। इसके अलावा कोयले के सीम के बीच स्थित Intermittent Band को हटा कर उसे कचरा के रूप में बाहर फेंक दिया जाता है ताकि कोयले की गुणवत्‍ता बनी रहे।

प्रेषण से पहले कोयले का सही बजन लेना :

रेल के द्वारा कोयले का प्रेषण करने के पहले इन-मोशन रेल वे-ब्रीज पर रेक का वजन किया जाता है। सभी रेलवे साईडिंग पर प्रिंट आउट सुविधायुक्‍त रेल वे-ब्रीज उपलब्‍ध है। इसके अलावे वजन लेने के लक्ष्‍य को शतप्रतिशत प्राप्‍त करने के लिये हम लोग स्‍टैंडबाई वे-‍ब्रीज उपलब्‍ध कराये हैं। सड़क मार्ग द्वारा कोयले के प्रेषण का वजन शतप्रतिशत लिया जाता है।

सही नमूना एवं विश्‍लेषण :

1. सभी रेलवे साईडिंग पर रेल से कोयला प्रेषण से पहले बीआईएस विधि से सही नमूना एवं विश्‍लेषण किया जाता है।
2. कोयला के सभी उपभोक्‍ताओं जिसमें विद्युत गृह भी शामिल है को कोयला प्रेषण से पहले कोयले के नमूना एवं विश्‍लेषण के लिये वर्तमान एफएसए के दिशा निर्देशों का एमसीएल पूरी तरह पालन करता है।
3. उपभोक्‍ताओं के प्रतिनिधियों के रिस्‍पांस कोयले का थर्ड पार्टी नमूना/विश्‍लेषण किया जाता है।

कोयला नमूना के विश्‍लेषण के लिये आधारभूत संरचना

वर्तमान में एमसीएल के विभिन्‍न क्षेत्रों में कुल दस कोयला विश्‍लेषण प्रयोगशाला है जो पूरी तरह आधुनिक, सोफिस्‍टीकेटेड उपकरण जैसे प्राक्‍सीमेट एनालाइजर और आटो बम्‍ब कैलोरी मीटर से युक्‍त है जिससे कोयले का यूएचएफ एवं जीसीवी सुनिश्चित किया जा सके। इस तरह के उपकरणों की मदद से कोयले का जीसीवी 15-20 मिनट में सुनिश्‍चित कर लिया जाता है।


(हस्‍ताक्षरित : महाप्रबंधक (गुणवत्‍ता नियंत्रण) एमसीएल, मुख्‍यालय पत्र संख्‍या एमसीएल/ मुख्‍या./एसबीपी/जीएम(क्‍यूसी)/एफ-एटीआर/14-15/341 दिनांक 20.08.2014)


 

 

 



Welcome to MCL
   महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड
( कोल इंडिया लिमिटेड की एक सहायक मिनीरत्न कंपनी)
जागृति विहार, बुर्ला, संबलपुर - 768020, उड़ीसा |
   CIN:U10102OR1992GOI003038
हमें फॉलो करें: